The इस मंत्र को बोलकर करो 'R' नाम वाले इंसानो को 15 सेकंड में करे वशीकरण Diaries +91-9914666697




, and creating Abdul Baba the custodian in the shrine. These specifics reveal that the Muslim identification of the Pir saint was even now Plainly recognised via the Hindu bulk. Abdul Baba ongoing to reside within the Sansthan location and like previously times, ongoing to comb the Masjid

“उनके होठों पर अल्लाह मालिक रहता था” ऐसा इस किताब में पचासों जगह आया है !

दस गनु स्वयं पुलिस में थे और बाबा के बारे में जानकारी इकठा करने उनके तथाकथित जन्म स्थल सेलु भी गए वहां पर एक लडके की कहानी उन्हें बताई गयी लेकिन यह भी बोला गया की यह बात १०० साल पहले की है अर्थात बाबा के जन्म के ३० साल पहले की.

शिर्डी साईं की पूजा – आस्था या होव्वा??

वो संत जो खुद एक मस्जिद में रहता था, सबके सामने कुरान पढता था और एक ही संदेश देता था की मुझे मरने के बाद दफना देना,, ना की जला देना, पर अधिकतर मुर्ख लोग उसे समझ नहीं पाए और उसे अपने भगवानो से ऊपर दर्जा देकर एक ऐसे मुर्दे को पूजते है जो स्वयं एक मुसलमान है…

१९४४ – श्री न.व्.गुनाजी ने धाबोलकर साहब की पुस्तक के आधार पर उसी नाम से इंग्लिश में श्री साईं सत्चारिता लिखी और पूरी तरह से बाबा को हिन्दू सिद्ध कर दिया.

आवश्यकता इस बात की है की समाज के पतन को रोका जाये और जन जाग्रति लाकर वैदिक महापुरुषों को अपमानित करने की जो कोशिशे की जा रही, उनपर अंकुश लगाया जाये.

I used to be very upset and discovering nobody to assist me. When I saw the advertisement of Pandit R.K. Sharma ji during the journal I made a decision to fulfill him. I discovered my worry to him then he provided me the most effective treatment which aided me in receiving the consent of my parents for my love marriage. Many thanks Pandit ji for blessing me. See Far more

भूतों को पूजने वाले भूतों को प्राप्त होते है, और मेरा पूजन करने वाले भक्त मुझे ही प्राप्त होते है ॥

O the devotees of Sai, Feel the moment, Can it be possible to ascertain sai’s idol in any of Mosque for that sake of Secularism. So cease this nonsense and open your eyes.

शिर्डी के मुख्य द्वार पर साईं बाबा उर्फ़ चाँद मियां की कब्र या समाधी

“रामायण-गीता में सदेव उचित कर्म करने, कर्मठ बनने तथा अन्याय के विरुद्ध लड़ने की प्रेरणा निहित है क्यू की यदि दुराचारी/पापी/देत्य के विनाश से हजारों मासूम लोगो का जीवन सुरक्षित व् सुखी होता है तो वह उचित बतलाया गया है !”

मित्रो मालिक तो सबका कोई है रात को यह मंत्र 5 बार बोलते ही पड़ोसन आपके पास होगी ही नहीं, हाँ परमेश्वर या ईश्वर या परमपिता सभी का एक है,

बाबा रहा मस्जिद में ही(स्वेइच्छा से ) :- वो मुस्लिम ही था इससे साफ दिखता है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *