The Single Best Strategy To Use For Vashikaran Lady Easy Method +91-9914666697




जो कच्चा माँस खाते हैं, जो मनुष्यों द्वारा पकाया हुआ माँस खाते हैं, जो गर्भ रूप अंडों का सेवन करते हैं, उन के इस दुष्ट व्यसन का नाश करो !

और इस साई को इसके जीवन काल मे शिरडी और आस पास के इलाके के अलावा और कोई जानता ही नहीं था…या यू कहे लगभग सौ- दौ सौ सालो तक इसे सिर्फ शिरडी क्षेत्र के ही लोग जानते थे…. आजकल की जो नयी नस्ल साईराम साईराम करती रहती है वो अपने माता-पिता से पुछे कि आज से पंद्रह-बीस वर्ष पहले तक उन्होने साई का नाम भी सुना था क्या?

From this, it's now probable to condition authoritatively that Sai Baba a Sufi Learn, and straight taught the precepts of Islam and Sufism to his servant/pupil and doubtless to a host of wandering faqirs all over the Deccan within the nineteenth century.

 and bouquets over the MAZAAR(TOMB) etcetera. He also saved up his apply of reciting Quran. He did not acknowledge any money and took only clothes and food items.

वे स्वयं कुए से पानी खींचते और संध्या समय घड़ों को नीम वृक्ष के निचे रख देते । जैसे ही रखते तो घड़े फुट जाते, क्यू की घड़े कच्चे थे !

मेने बाबा की पवित्र जीवन गाथा का लेखन प्रारंभ कर दिया (अध्याय २ )

साईं भक्तों बाबा ने अपने मुह से कभी अपने जन्म,माँ,बाप और अपने गुरु के बारे में नहीं कहा,तो यह झूठी कहानियां किसलिए सिर्फ बाबा के नाम पर पैसे बटोरने के लिए.आँखें खोलो और साजिश को समझो.

तुलसी के पत्ते पर नाम लिख कर करें वशीकरण

भूतों को पूजने वाले भूतों को प्राप्त होते है, और मेरा पूजन करने वाले भक्त मुझे ही प्राप्त होते है ॥

Governments of different states gave autonomous position to sai baba temples and this paved way for business while in the name of faith.

ॐ में साईं जैसे पापी भी तर जाते है फिर साईं जैसे छलावे को ईश्वर या मालिक मानने की click here भूल क्यों,

Along with the passage of time the doctrine of Sufism had been fading together with that of tasawwuf and faqr. In the course of some Mughal Emperors time, within the Indian continent, poor terminology ended up inserted in Sufism and Islam and “FAQIR” was quoted for street beggars and Hindu monks.

"Eena etevena shetan meri shakal ban Amuk ke pas jana oose mere pass lana rahi to turi Bahan, par teenager san tee talag"

साईं की ये असली फोटो देखिये, क्या इस फोटो में ये हिन्दू लगता है और क्या ऐसा लगता है की इसके अन्दर ऐसी कोई ताकत है जिससे ये लोगो के दुःख दूर कर सकता है. या फिर इसका पहनावा पूरी तरह से मुस्लिम होने के बाद भी ये हिन्दुओ को पूरी तरह से दिग्भ्रमित करके उन्हें मुर्ख बना रहा है ऐसी हजारो साईटस है जो साईं के चमत्कारों का प्रचार करती है जो पूरी तरह से झूठ और फरेब है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *